home Food Benefit 12 मेथी के फायदे|fenugreek in hindi|

12 मेथी के फायदे|fenugreek in hindi|

fenugreek in hindi

methi (fenugreek in hindi)अपने आप में एक सम्पूर्ण आहार होने के साथ इसको लंबे समय से चिकित्सा में उपयोग किया जाता है | यह भारत के व्यंजनों में लगने वाला एक मसाला भी है , लेकिन इसका ज्यादातर इस्तेमाल औषधी के रूप में किया जाता है | पुराने समय में मेथी के लडू देसी घी में बना के खाए जाते थे|

आज भी बनाते है लेकिन अभी पहले जितना craze नहीं रहा | तभी आजकल हर किसी को कोई न कोई बीमारी होती ही रहती है |मुझे ये बताने की जरुरत नहीं है की इस समय बीमारियों का आंकड़ा और पुराने ज़माने में बीमारियों के आंकड़े में बहुत बड़ा अंतर है |

आज में आपको इसी चमत्कारी जड़ी बूटी के अनगिनत फायदे, नुकसान और लेने का तरीका बता रहा हु तो आप बने रहिये हमारे आर्टिकल के साथ

[su_heading]मेथी क्या है? fenugreek hindi meaning [/su_heading]

मेथी fenugreek in hindi का पौधा लगभग 60–90 सेमी लंबा होता है। इसमें छोटे, सुनहरे-भूरे रंग के बीज के साथ हरे पत्ते, छोटे सफेद फूल और फली होती है |हजारो सालो से मेथी का इस्तेमाल भारतीय चिकित्सा और चीनी चिकित्सा में त्वचा और पेट की सभी बीमारियों को ख़त्म करने के लिए किया जाता रहा है |हालाँकि अभी ये एक आम घरेलु मसाला हो गया है ,

अभी इसका इस्तेमाल बहुत सी सब्जियों में में स्वाद बढाने के लिए किया जाता है | इसके अलावा इसका इस्तेमाल अभी कुछ साबुन और शैम्पू में भी किया जाता है |

मेथी के बिज को सब्जियों में मसालों के रूप में और इसके पत्तो की सब्जी बनाई जाती है जो काफी पोष्टिक मानी जाती है |

औषधि के रूप में इसके बीजो का इस्तेमाल चूर्ण बना के किया जाता है , और यकीन मानिये मेथी आपके पेट के सारे रोगों को अकेले दूर करने में शक्षम है | निचे में आपको मेथी में पाए जाने वाले पोषण तत्वों के बारे में बताने जा रहा हु |

पोषण तथ्य– मेथी के बिज का एक बड़ा spoon , 35 कैलोरी के साथ -fenugreek in hindi

फाइबर: 3 ग्राम

प्रोटीन: 3 ग्राम

कार्ब्स: 6 ग्राम

वसा: 1 ग्राम

iron: रोज की आवश्यकता 20%

मैंगनीज: रोज की आवश्यकता का 7%

मैग्नीशियम:रोज की आवश्यकता का 5%

सारांश मेथी के बीज में, फाइबर और खनिजों की अच्छी मात्रा होती है, जिसमें लोहा और मैग्नीशियम शामिल हैं। जिससे ये आपकी बॉडी के लिए बहुत फायदेमंद है |

[su_heading]breastmilk का उत्पादन बढाने में फायदेमंद methi ke fayde|[/su_heading]

स्तनपान या माँ  का दूध आपके बच्चे के विकास के लिए उसके पोषण के लिए सबसे अच्छा स्रोत है |हालाँकि कुछ माताएं अपने दूध को बढाने के लिए बहुत सी angreji medicine लेती है जिससे बहुत से side effect होते है ,

लेकिन इसी जगह अगर आप मेथी दाने का इस्तेमाल करते है तो आप बिना किसी side effect के breastmilk को बढ़ा सकते है |अध्ययन जिसमें 66 माताओं को 14 दिनों तक मेथी के बीजों की चाय पिलाई गयी इसमे पाया गया कि उनके स्तन के दूध का उत्पादन बढ़ गया,

सिर्फ मेथी का सेवन करने से| तो अगर आप भी इसी समस्या से ग्रसित है तो आप चमत्कारी औषधि मेथी का जरुर इस्तेमाल करे , ये मेरा वादा है की आपकी समस्या जरुर solve हो जाएगी |

[su_heading]Testosterone में सुधार methi ke fayde|[/su_heading]

मेथी का उपयोग पुरुषों में Testosterone को संतुलित करने के लिए और बढाने के लिए बरसो से प्रयोग किया जा रहा है | कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि मेथी आपकी कामेच्छा में वर्द्धि करती है ,

तो अगर आपकी कामेच्छा में कमी हो रही तो आप जल्द से जल्द मेथी का सेवन चालू करदे | एक 6 सप्ताह के अध्ययन ने जिसमे 30 पुरुषों को 600 मिलीग्राम मेथी को खाने के लिए दिया गया परिणाम स्वरूप  अधिकांश प्रतिभागियों ने ताकत और यौन क्रिया में सुधार पाया |इसके अलावा शरीर में वसा में 2% की कमी भी पाई गयी ।

हालांकि, इसमे अभी और अधिक शोध की आवश्यकता है। तो अगर आपको भी ये समस्या है तो जल्द से जल्द मेथी का सेवन चालू करदे |

[su_heading]मधुमेह में असरकारक methi ke fayde [/su_heading]

मेथी आपकी diabetes type 1 और type 2 दोनों में सुधार कर सकती है |एक अध्ययन में, टाइप 1 मधुमेह वाले लोगों ने दोपहर और रात के खाने में 50 ग्राम मेथी के बीज का पाउडर  का सेवन किया । 10 दिनों के बाद, सभी ने अपनी blood sugar के स्तर और खराब कोलेस्ट्रॉल में कमी का अनुभव किया। fenugreek in hindi

एक अन्य अध्ययन में, कुछ बिना मधुमेह वाले लोगों ने भी मेथी का सेवन किया | उनके सेवन के 4 घंटे बाद blood sugar के स्तर में 13.4% की कमी का अनुभव  किया। इसका मतलब यही हुआ की मेथी आपके blood sugar में सुधार करती है |

मेथी की इंसुलिन फ़ंक्शन को बेहतर बनाने का गुण के कारण ये diabetes में लाभकारी होती है |इसके अलावा इसमे पाया जाने वाला फाइबर भी इसमे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है |

[su_heading]period में होने वाले दर्द में लाभकारी methi ke fayde |[/su_heading]

अगर आपके period में आपको भी अधिक दर्द का सामना करना पड़ता है तो अब ऐसा नहीं सहना पड़ेगा आपको मासिक धर्म की अवधि के 3 दिन पहले  रोजाना 1-2 चम्मच मेथी के बीज का पाउडर दिन में तीन बार लेने से दर्दनाक मासिक धर्म वाली महिलाओं में दर्द कम हो जाता है।

जिससे आपको  दर्द निवारक दवाओं की आवश्यकता नहीं रहती जिसके side effect भी बहुत होते है | इसलिए अगर आप भी period में तेज दर्द से परेशान है तो आपको मेथी का सेवन जरुर करना चाहिय्र और आप सेवन के बाद

[su_heading]Heartburn में फायदेमंद methi ke fayde( fenugreek in hindi)|[/su_heading]

अनुसंधान से पता चलता है कि हर भोजन के पहले 2 चम्मच मेथी पाउडर लेने से आपको heartburn की समस्या से छुटकारा मिल जाता है | मेथी आपके पेट के रोगों के लिए एक चमत्कारी औषधि है |

हर इन्सान को सुबह उठते ही एक चमच मेथी पाउडर को गुनगुने पानी के साथ लेना चाहिए | ये आपके पेट को साफ़ करने के साथ ही आपकी आंतो को भी शक्ति देता है ,जिससे आपको constipation जिसे कब्ज़ कहते है नहीं होती है |

[su_heading] cholesterol को संतुलित करती है methi ke fayde |[/su_heading]

प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि मेथी के बीज लेने से कुल और लिपोप्रोटीन (एलडीएल या “खराब”) कोलेस्ट्रॉल कम हो जाता है।

लेकिन उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल या “अच्छा”) कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स पर मेथी के बीज के प्रभाव का कोई असर नहीं होता है | मेथी आपके cholesterol level को संतुलित करती है जिससे ख़राब cholesterol और अच्छे कोलेस्ट्रॉल का स्तर सही बना रहे |

[su_heading]Male fertility को improve करती है |[/su_heading]

शुरुआती शोध बताते हैं कि 4 महीने तक रोजाना मेथी के बीज के तेल की बूंदों को तीन बार लेने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ होती है। इससे आपकी fertility improve होती है |

आजकल की भाग दोड़ भरी जिन्दगी में और तनाव भरे माहोल के कारण पुरुषो में अक्सर low sperm count देखने को मिलता है ,तो आप अंग्रेजी medicine न लेके मेथी का सेवन करे| ये प्राकृतिक तरीके से आपके sperm count को बढ़ा देता है, वो भी बिना किसी side effect के तो आज और अभी से इसका सेवन करना चालू करदे |

fenugreek in hindi

[su_heading]Weight loss में सहायक|[/su_heading]

प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि मेथी के बीज के अर्क से अधिक वजन वाले पुरुषों में वसा को कम किया जा सकता है, अगर आप 2-6 सप्ताह के लिए प्रतिदिन तीन बार 392 मिलीग्राम की खुराक ले। लेकिन अगर खुराक कम हो तो ये असर नहीं दिखता है।

4 या 8 ग्राम मेथी के फाइबर को नाश्ते में शामिल करने से अधिक खाने की भावनाएं कम हो जाती हैं क्योकि पेट भरा हुआ महसुस होता है और दोपहर के भोजन के समय भूख कम हो जाती है, जिससे आप ज्यादा कैलोरी नही लेते और वजन सामान्य रहता है |

[su_heading] Ovarian cysts में लाभकारी [/su_heading]

Ovarian cysts के लिए मेथी के प्रभाव के बारे में शोध में किये टेस्ट के परिणाम बताते हैं कि मेथी के बीज का अर्क रोजाना 8 सप्ताह तक लेने से Ovarian cysts वाली महिलाओं के लक्षणों में सुधार होता है।

हालांकि, अन्य शोध बताते हैं कि प्रत्येक दिन मेथी के बीज की  1000 मिलीग्राम मात्र लेने से Ovarian cysts का आकार कम होता है और मासिक धर्म चक्र की cycle को नियमित करने में मदद मिलती है|

[su_heading]सूजन को कम करने में मदद करे|[/su_heading]

मेथी में एंटीऑक्सिडेंट भरपूर मात्रा में होते है, जिससे इसमे anti-inflammatory गुण होते है | इससे ये आपको कही भी सुजन है तो मेथी लेने से ठीक हो जाती है , क्युकी ये micro bacteria जो सुजन के लिए जिम्मेदार है उनको ख़त्म कर देता है |चूहों में 2012 के एक अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि मेथी के बीज में उच्च एंटीऑक्सिडेंट फ्लेवोनोइड सामग्री सूजन को कम करती है।

[su_heading]Heart और Blood Pressure को नियंत्रित करती है |[/su_heading]

मेथी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियमित करने और रक्तचाप में सुधार करने में आपकी मदद करती है, जिससे हृदय स्वास्थ्य में सुधार होता है। क्योंकि मेथी के बीज में लगभग 48 प्रतिशत फाइबर होता है| फाइबर आपके खाने को आसानी से पचा देती है, अगर आपका पाचन सही तो सबकुछ सही |

[su_heading]दर्द निवारक के रूप में सहायक[/su_heading]

मेथी का उपयोग लंबे समय से पारंपरिक चिकित्सा पद्धति में दर्द निवारण के लिए किया जाता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि इस जड़ी बूटी में एल्कलॉइड नामक यौगिक होता है, जो संवेदी रिसेप्टर्स को ब्लॉक करने में मदद करते हैं जो मस्तिष्क को दर्द को अनुभव कराते है |

2014 के एक अध्ययन में, दर्दनाक period से जूझने वाली 51 महिलाओं ने लगातार 3 महीनों तक पीरियड्स के 3 दिन पहले, दिन में तीन बार मेथी का चूर्ण लिया इसके परिणाम में उन्होंने अपने period में कम दर्द का अनुभव किया |

  • पाचन समस्या , constipation(कब्ज़ ), loss of appetite, और  gastritis(गैस की समस्या )
  • menopause के दर्द को कम करती है |
  • arthritis को ठीक करती है |
  • high blood pressure को ठीक करती है |
  • obesity को ठीक करती है |
  • सांस की समस्या |
  • ulcers को ठीक करती है ,चाहे वो कहा भी हो body में |
  • खुला घाव को जल्दी भरना
  • muscle pain को ठीक करती है |
  • migraines and headaches(सिरदर्द )
  • डिलीवरी के दर्द को कम करती है |

मेथी के overdose के कुछ  side effect (methi side effect hindi)

मेथी के कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स में upset stomach और चक्कर शामिल होते हैं, इसके अलावा कुछ और side effect निचे लिख रहा हु |

मेथी के कुछ सामान्य प्रभावों में शामिल हैं:( fenugreek side effect hindi)

दस्त|
पेट में ख़राबी|
सिर चकराना|
सिर दर्द|
  1. मेथी से कुछ लोगों को एलर्जी होती है, हालांकि यह बहुत बात दुर्लभ है।
  2. गर्भवती महिलाओं को मेथी के उपयोग से बचना चाहिए क्योंकि इसमें ऐसे यौगिक होते हैं जो आपके uterus में संकुचन पैदा कर सकते हैं और जन्म संबंधी असामान्यताएं पैदा कर सकते हैं।
  3. सामान्य तौर पर, किसी भी स्वास्थ्य व्यक्ति को मेथी के ज्यादा सेवन से बचना चाहिए या सावधानी से इसका उपयोग करना चाहिए।
  4. मेथी कई दवाओं के साथ नकारात्मक प्रभाव करती है, लेकिन जड़ी-बूटियों में से कुछ यौगिक दवाओं के समान ही कार्य करते हैं, इसलिए दोनों को लेना सुरक्षित नहीं होता है

मेथी को लेने का तरीका methi doses ( fenugreek in hindi)

मेथी को सामान्यता चूर्ण रूप में लेना प्रचलित है | लेकिन इसके कैप्सूल भी मिलते है , और इसका अर्क भी ले सकते है | लेकिन चूर्ण लेना सभी स्थिति में अच्छा रहता है | सुबह उठते ही खाली पेट गुनगुने पानी के साथ एक चमच चूर्ण लेना सबसे अच्छा रहता है |

इसके अलावा आप इसे खाना खाने के 1 घंटे पहले भी ले सकते है , जिससे body को fiber की पूर्ति पूरी हो जाती है | जिससे खाना अच्छा पचता है ,और body बीमारियों से दूर रहती है |आपने वो कहावत तो सुनी होगी, पेट खुश तो सब खुश ,ये अकदम सही बात है , सभी रोगों का कारन पेट है , क्युकी आप जो खाना खाते है उसी से body को पोषण मिलता है| और इसी खाने के कारण आपको रोग होते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *