home स्वास्थय रक्षा (cancer in hindi) जानिए कैंसर के बारे में सबकुछ |

(cancer in hindi) जानिए कैंसर के बारे में सबकुछ |

cancer in hindi

कैंसर (cancer in hindi ) का सीधा मतलब यही है की आपकी शरीर की कोशिकाओं का अनियंत्रित तरीके से बढ़ना, जो  शरीर की एक भूल या शरीर की कार्य प्रणाली में  खामी होने से ये होता है| ये कोशिकाए बढकर tumor बन जाती है , जो धीरे धीरे शरीर के बाकि अंगो को ठीक से काम नहीं करने देती , जिसके परिणाम स्वरूप आपके organ fail हो जाते है और पीड़ित की मौत हो जाती है |

इस लेख में, आपको बताऊंगा की  कैंसर कितने  प्रकार का होता है , ये  बीमारी कैसे विकसित होती है, और इसके क्या उपचार जो आपके जीवन और आपके  जीवित रहने की दर को बेहतर बना सकते है | (cancer in hindi )


[su_heading] कैंसर क्या है?[/su_heading]

कैंसर (cancer in hindi ) सूनने में बहुत ही  डरावना अहसास देता है  । जैसा की में आपको पहले बता चूका हु कैंसर का मतलब है आपकी body ki cells अनियंत्रित तरीके से बढ़ रही है , जिससे वो एक गांठ का रूप ले लेती है , और ये बढती ही  जाती है , जिससे दुसरे अंग ठीक से काम नहीं कर पाते है |

कुछ प्रकार के कैंसर तेजी से कोशिका वृद्धि करते है जबकि अन्य प्रकार में  कोशिका धीमी दर से विभाजित होती  है  और धीमे  बढ़ती  है |

कुछ रूपों में कैंसर ट्यूमर के रूप में दिखाई देते है, जबकि अन्य, नहीं। जैसे कि ल्यूकेमिया,

शरीर की अधिकांश कोशिकाओं में विशिष्ट कार्य karne और उसका एक  निश्चित जीवन काल होता हैं। कोशिका बनना और वापस ख़तम होना एक प्राकृतिक और लाभकारी घटना का हिस्सा है जिसे apoptosis कहा जाता है।

एक cell को मरने के निर्देश इसलिए मिलते हैं ताकि शरीर इसे एक नए सेल के साथ बदल सके जो पहले वाली से बेहतर कार्य करती  है। कैंसरग्रस्त कोशिकाओं में उनको मरने वाले निर्देश ठीक से नहीं मिल पाते जिससे वो बढती रहती है और गांठ बन जाती है | कैंसरग्रस्त कोशिकाएँ, प्रतिरक्षा प्रणाली को ख़राब कर सकती हैं और अन्य बदलाव ला सकती हैं जो शरीर को नियमित रूप से काम करने से रोकते हैं।

[su_heading] कारण[/su_heading]

कैंसर के कई कारण हैं, जिनमे से कुछ रोकथाम योग्य हैं |

हर साल 480000 लोग सिगरेट के धूम्रपान से मरते है इसका अध्यन 2014 की एक रिपोर्ट में किया गया था |

धूम्रपान के अलावा, कैंसर के अन्य कारकों में शामिल हैं:

शराब का भारी सेवन
मोटापा
physical activity का नहीं होना
खराब पोषण

कैंसर के अन्य कारण जो है वो अभी तक रोके नहीं जा सकते हैं। वर्तमान में, सबसे अधिक नहीं रोके जाने वाला जोखिम कारक उम्र है। कैंसर सोसायटी के अनुसार, डॉक्टर 87 प्रतिशत कैंसर के मामलों का निदान 50 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों में करते हैं।

[su_heading] क्या कैंसर आनुवांशिक है?[/su_heading]

अगर सरल शब्दों में आपको बताऊ तो इसका जवाब” हा “है | अगर माता पिता की कोशिकाओ में कैंसर का जीन है तो ये आपके बच्चे में भी आएगा और उसको भी कैंसर होने की पूरी संभावना है |

[su_heading]उपचार[/su_heading]

नवीन अनुसंधान ने नई दवाओं और उपचार ki nayi technology का विकास किया है |

डॉक्टर आमतौर पर कैंसर के प्रकार, निदान के चरण मतलब कोनसे stage का कैंसर है और व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य के आधार पर उपचार लिखते हैं।

नीचे कैंसर के उपचार को बता रहा हु ,

Chemotherapy का उद्देश्य कैंसर कोशिकाओं को दवाओं से मारना है जो की तेजी से विभाजित हो रही कोशिकाओं को लक्ष्य करता है । ड्रग्स ट्यूमर को कम करने में भी मदद करता  हैं, लेकिन दुष्प्रभाव गंभीर होते हैं।

 

Hormone therapy में ऐसी दवाएं शामिल होती हैं जो आपके body के हार्मोन को संतुलित करता है , जिससे सेल बनाना सही प्रकार से हो |

 

Immunotherapy प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और कैंसर कोशिकाओं से लड़ने के लिए प्रोत्साहित  करने के लिए दवाओं और अन्य उपचारों का उपयोग करती है। इसमे आपकी body की cell को लेकर उसको प्रयोग शाला में ले जाके शक्तिशाली बनाया जाता है जिससे वो खुद कैंसर से लड़ सके |

 

Radiation therapy कैंसर कोशिकाओं को मारने के लिए high-dose radiation का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा, डॉक्टर सर्जरी से पहले ट्यूमर को सिकोड़ने या ट्यूमर से संबंधित लक्षणों को कम करने के लिए विकिरण भी इसका उपयोग करता है |

 

 Stem cell ट्रांसप्लांट विशेष रूप से रक्त से संबंधित कैंसर वाले लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है, जैसे कि ल्यूकेमिया या लिम्फोमा। इसमें लाल या सफेद रक्त कोशिकाओं को हटाया जाता  है, जो किमोथेरेपी या Radiation से नष्ट हो गए हैं। लैब तकनीशियन फिर से कोशिकाओं को मजबूत करते हैं और उन्हें वापस शरीर में डालते हैं।

 

Surgery अक्सर एक उपचार का अहम हिस्सा होता है जब किसी व्यक्ति को कैंसर का ट्यूमर होता है,तो सर्जन रोग के प्रसार को कम करने या रोकने के लिए लिम्फ नोड्स को हटा सकता है।

 

Targeted therapies कैंसर कोशिकाओं के भीतर कार्य करती है ताकि उन्हें बढ़ने से रोका जा सके। ये  प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढाती हैं। इस उपचार के दो उदाहरण small-molecule drugs और monoclonal antibodies हैं।

best result के लिए डॉक्टर अक्सर एक से अधिक प्रकार के उपचारों को प्राथमिकता देते है |

[su_heading] प्रकार[/su_heading]

u.s. में कैंसर का सबसे आम प्रकार स्तन कैंसर है, इसके बाद फेफड़े और प्रोस्टेट कैंसर|

प्रत्येक वर्ष, देश में 40,000 से अधिक लोग निम्न प्रकार के कैंसर में से एक से पीड़ित होते है |

bladder
colon and rectal
endometrial
kidney
leukemia
liver
melanoma
pancreatic
thyroid

अन्य रूप भी है लेकिन वो थोड़े कम सामान्य हैं। राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के अनुसार, 100 से अधिक प्रकार के कैंसर हैं।

कैंसर का विकास और कोशिकाओ का विभाजन

डॉक्टर कैंसर को वर्गीकृत करते हैं:

शरीर में इसका स्थान
ऊतकों का कोनसा रूप है |

उदाहरण के लिए, सार्कोमा हड्डियों और  नरम ऊतकों में विकसित होता है, जबकि कार्सिनोमा कोशिकाओं में बनता है जो शरीर में आंतरिक या बाहरी सतहों को कवर करते हैं। Basal cell कार्सिनोमस त्वचा में विकसित होते हैं, जबकि एडेनोकार्सिनोमा स्तन में बन सकते हैं।

जब कैंसर की कोशिकाएं शरीर के अन्य भागों में फैलती हैं, तो इसके लिए चिकित्सा शब्द मेटास्टेसिस है।

एक व्यक्ति को एक बार में एक से अधिक प्रकार के कैंसर हो सकते हैं।

कैंसर कोशिकाओं को अनियंत्रित रूप से विभाजित करता  है। यह उन्हें अपना  जीवन चक्र पूरा नहीं करने देता है |

आनुवंशिक कारक और जीवन शैली जैसे की  धूम्रपान , रोग के विकास में अहम योगदान देते है । कई तत्व उन तरीकों को भी प्रभावित करते हैं जिससे  डीएनए कोशिकाओं के साथ संचार करता  हैं और उनके विभाजन और मृत्यु का निर्देश देता है |

नॉनमेलानोमा त्वचा कैंसर के बाद, यू.एस. में स्तन कैंसर सबसे आम प्रकार है। हालांकि, फेफड़ों का कैंसर, कैंसर से संबंधित मौत का प्रमुख कारण है।

कैंसर के उपचार में लगातार सुधार हो रहा है। वर्तमान उपचार के तरीकों के उदाहरणों में कीमोथेरेपी, विकिरण चिकित्सा और सर्जरी शामिल हैं। कुछ लोग नए विकल्पों से लाभान्वित होते हैं, जैसे कि स्टेम सेल प्रत्यारोपण और सटीक दवा। अभी हर साल कैंसर के मरीजो में गिरावट आ रही है|

आशा करता हु आपको कैंसर के बारे में सम्पूर्ण ज्ञान मिला होगा, कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में जरुर पूछे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *